YUV News Logo
YuvNews
Open in the YuvNews app
OPEN

फ़्लैश न्यूज़

लीगल

 यस बैंक मामले में राणा कूपर की हिरासत की मांग करेगी सीबीआई

 यस बैंक मामले में राणा कूपर की हिरासत की मांग करेगी सीबीआई

 यस बैंक मामले में राणा कूपर की हिरासत की मांग करेगी सीबीआई
 केंद्रीय जांच ब्यूरो ने शुक्रवार को यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ विशेष सीबीआई कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट लिया। इसमें एजेंसी में राणा कपूर के खिलाफ रजिस्टर्ड केस में हिरासत में लेने की मांग की गई है। 7 मार्च को सीबीआई ने राणा कपूर,डीएचएफएल के प्रमोटरों कपिल और धीरज वधावन, डॉट अर्बन वेंचर्स प्राइवेट लि, कपूर की बेटियों- राधा, राखी, रोशनी और कपूर की पत्नी बिन्दू के खिलाफ केस रजिस्टर किया था। प्रोडक्शन वारंट राणा कपूर को पीएमएलए कोर्ट में पेश किए जाने के बाद मांगा गया। राणा कपूर की ईडी हिरासत की अवधि शुक्रवार को खत्म हो गई। राणा कपूर को 8 मार्च को गिरफ्तार किया गया था।
एंटी करप्शन ब्यूरो की दिल्ली यूनिट के सीबीआई अधिकारी राणा कपूर को सीबीआई कोर्ट में शनिवार को पेश कर आगे जांच के लिए राणा की हिरासत की मांग करने वाले है। एजेंसी ने ये केस डीएचएफएल से राणा कपूर के कथित संदिग्ध लेनदेनों को लेकर दर्ज किया है। इनमें डीएचएफएल को कर्ज दिए गए थे जिसमें यस बैंक ने 2018 में 3700 करोड़ के डिबेन्चर्स खरीदे थे और डीएचएफएल ने कपूर की बेटियों की कंपनी डॉट अर्बन वेचर्स प्रा लि को 600 करोड़ का कर्ज दिया गया था। सीबीआई अधिकारी भ्रष्टाचार निरोधक एक्ट 1988 के तहत दर्ज केस में जांच कर रहे हैं। आरोप है कि यस बैंक के जमाकर्ताओं से धोखाधड़ी की गई और उनका पैसा अपने अवैध लाभ के लिए इस्तेमाल किया गया। सीबीआई अधिकारियों को संदेह है कि डीएचएफएल और उससे जुड़ी फर्मों को कर्ज देने में कई खामियों को नजरअंदाज किया गया।
ईडी अधिकारी साफ कर चुके हैं कि डॉट वेंचर्स प्रा लि ने 40 करोड़ की संपत्ति को डीएचएफएल से कर्ज लेने के लिए 735 करोड़ का बढ़ा चढ़ा कर दिखाया। सीबीआई कपूर से बांद्रा रिक्लेमेशन रीडेवेलपमेंट प्रोजेक्ट से जुड़ी डीएचएफएल की कथित फर्म को यस बैंक से मिले 750 करोड़ के कर्ज की भी जांच कर रही है। इसमें कर्ज का अधिकतर हिस्सा कथित तौर पर डीएचएफएल को मिला और रीडेवेलपमेंट प्रोजेक्ट में कोई निवेश भी नहीं किया गया। 
सीबीआई ने कपूर के खिलाफ दिल्ली के अमृता शेरगिल मार्ग पर बंगले की खरीद में संदिग्ध लेनदेन को लेकर भी केस दर्ज किया है। आरोप है कि ये बंगला अवंता रियलिटी नाम की कंपनी से घूस के तौर पर लिया गया। ये कंपनी यस बैंक की कर्जदार है। 500 करोड़ की ये संपत्ति राणा की पत्नी बिन्दू कपूर की कंपनी ब्लिस एबोड प्रा लि ने हासिल की थी। ब्लिस एबोड ने 375 करोड़ का कर्ज इंडिया बुल्स हाउसिंग से हासिल किया था। एजेंसी को शक है कि कपूर को ये संपत्ति घूस में मिली और करीब 300 करोड़ रुपये का हेरफेर किया गया। 

Related Posts

0 comments on " यस बैंक मामले में राणा कूपर की हिरासत की मांग करेगी सीबीआई"

Leave A Comment