YUV News Logo
YuvNews
Open in the YuvNews app
OPEN

फ़्लैश न्यूज़

इकॉनमी

भारतीय रक्षा उद्योग की वैश्विक पहुंच के लिए द.अफ्रीका के साथ आपसी सहयोग बढ़ाने पर चर्चा 

भारतीय रक्षा उद्योग की वैश्विक पहुंच के लिए द.अफ्रीका के साथ आपसी सहयोग बढ़ाने पर चर्चा 

नई दिल्ली । भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच आज एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार की थीम थी 'भारतीय रक्षा उद्योग की वैश्विक पहुंच बढ़ाने के क्रम में दक्षिण अफ्रीका के साथ सहयोग और साझेदारी: वेबिनार और एक्सपो’। इसका आयोजन एसआईडीएम के तहत रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग द्वारा किया गया। यह कार्यक्रम उस वेबिनार श्रृंखला का हिस्सा है, जिसका आयोजन मित्र देशों के साथ रक्षा उद्योग से जुड़े उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने और अगले पांच वर्षों में 5 बिलियन डॉलर के निर्यात लक्ष्य को प्राप्त करने के उद्देश्य से किया जा रहा है। 
भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय में संयुक्त सचिव डीआईपी/ पी&सी अनुराग बाजपेयी ने कहा कि भारत सरकार ने सुधारवादी नीतियाँ अपनाई हैं और कई प्रक्रियागत सुधार किए गए हैं, जिनमें रक्षा उत्पादन में एफ़डीआई की सीमा बढ़ाना और व्यवसाय अनुकूल वातावरण सृजित करना इत्यादि शामिल हैं। इसके चलते रक्षा उद्योग इस योग्य बनता हुआ नज़र आ रहा है कि यह घरेलू ही नहीं बल्कि वैश्विक मांग को भी पूरा कर सके। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच रणनीतिक साझेदारी से रक्षा सम्बन्धों में मजबूती और आर्थिक सहयोग के सुखद परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं। इस वेबिनार में विभिन्न भारतीय कंपनियों एल एंड टी, टाटा एड्वान्स्ड़ सिस्टम्स, एमकेयू, ओएफ़बी, मझगाँव डॉक शिपबिल्डर लिमिटेड, और 5 दक्षिण अफ्रीकी कंपनियाँ सैंडोक औस्ट्राल, जीईडबल्यू, हेंडसोल्ट, ग्रिंटेक डिफेंस और रायटेक शामिल हुईं। इन कंपनियों ने वेबिनार में अपने उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई और अपनी कंपनी के बारे में प्रस्तुति दी। इस वेबिनार में 100 से ज्यादा प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया और एक्सपो में 100 से ज्यादा वर्चुअल प्रदशर्नी लगाई गईं।
 

Related Posts

0 comments on "भारतीय रक्षा उद्योग की वैश्विक पहुंच के लिए द.अफ्रीका के साथ आपसी सहयोग बढ़ाने पर चर्चा "

Leave A Comment