YUV News Logo
YuvNews
Open in the YuvNews app
OPEN

फ़्लैश न्यूज़

नेशन

त्यौहारी सीजन में 40000 हजार तक पहुंचे सकता हैं सोना

त्यौहारी सीजन में 40000 हजार तक पहुंचे सकता हैं सोना

ग्लोबल ग्रोथ में सुस्ती के साथ दुनियाभर में ब्याज दरें घटने का सिलसिला शुरू होने से गोल्ड में तेजी का माहौल बन गया है। इसके कारण ही गोल्ड की कीमत अपने उच्चतम स्तर पर है। मंगलवार को एमसीएक्स पर अक्टूबर गोल्ड फ्यूचर्स ने 0.70 फीसदी की उछाल के साथ 38525 का स्तर छुआ। वहीं, दिल्ली में सोमवार को स्पॉट मार्केट में नया हाई बनाते हुए सोने के दाम 50 रुपये चढ़कर 38,470 रुपये पहुंच गए। एक्सपर्ट्स का कहना है कि त्यौहारी सीजन में गोल्ड 40000 रुपये प्रति 10 ग्राम से आगे जा सकता है। पीपी ज्वैलर्स के वाइस चेयरमैन पवन गुप्ता ने कहा कि इस वक्त घरेलू मार्केट में डिंमाड नहीं है, इसके बाद भी गोल्ड के दाम बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई कारणों से इंटरनैशनल मार्केट में गोल्ड में इन्वेस्टमेंट बढ़ रहा है। अगले माह से त्यौहारी सीजन शुरू हो जाएगा। उसके बाद घरेलू डिमांड भी बढ़ जाएगी।इसकारण आने वाले दिनों में गोल्ड में तेजी आना तय है। गोल्ड का अगला स्तर 39,000 रुपये का है। इसके बाद कोई बड़ी बात नहीं होगी, अगर गोल्ड 40,000 के लेवल को छू जाए।
पिछले एक महीने में ही घरेलू बाजार में गोल्ड के दाम 9 प्रतिशत बढ़ गए हैं। अगर चालू वित्त वर्ष की बात करें तो गोल्ड ने अभी तक 21 प्रतिशत रिटर्न दिया है। लंदन और न्यू यॉर्क में गोल्ड हाजिर 6.65 डॉलर चढ़कर 1,502.95 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया है। सोमवार को अमेरिकी फ्यूचर मार्केट में गोल्ड के अक्टूबर के लिए फ्यूचर सौदे 4.80 डॉलर की बढ़त में 1,506.80 डॉलर प्रति औंस पर हुए। माना जा रहा है कि अगर तेजी इसी तरह से जारी रही तो गोल्ड इंटरनैशनल मार्केट में 1550 डॉलर या उससे ज्यादा के लेवल पर जा सकता है। प्रेमजीवालजी जूलर्स के हरेश सोनी का मानना है कि चीन और अमेरिका के बीच जारी ट्रेड वॉर के कारण इन्वेस्टर्स गोल्ड की तरफ रुख कर रहे हैं। इसके अलावा ग्लोबल मार्केट में भी स्लोडाउन की खबरों से शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट कम हो रहा है। इसकारण गोल्ड में तेजी और बढ़ सकती है।
कमोडिटी गुरु जी चंद्रशेखर का कहना है कि अगर ट्रेड वॉर में अमेरिका के तेवर कुछ ढीले हो जाएं तो गोल्ड में करेक्शन आ सकता है यानी इसकी कीमतें कम हो सकती हैं। अमेरिकी प्रेजिडेंट ट्रंप के टैरिफ को लेकर मामला सेटल करने की संभावना हालांकि कम ही लग रही है। अगर ट्रेड वॉर की आंच धीमी पड़े तो ग्लोबल इकॉनमी में जो स्लोडाउन बढ़ रहा है,उसमें थोड़ा ठहराव आ सकता है। अमेरिका में ब्याज दरों में कटौती थम सकती है। इसके बाद शेयर मार्केट में इंवेस्टरों का रुझान बढ़ेगा। अगर अब तक गोल्ड में रिटर्न की बात करें तो इसने एक हफ्ते में 6.73 प्रतिशत, एक महीने में 9 प्रतिशत का रिटर्न इनवेस्टरों को दिया है। सालाना आधार पर गोल्ड पर रिटर्न 27.5 प्रतिशत तक हो गया है। मार्केट एक्सपर्ट विजय सिंह का कहना है कि इनवेस्टमेंट के लिहाज से इस वक्त गोल्ड में लॉग टर्म इनवेस्टमेंट किया जा सकता है। जहां तक खरीददारी की बात है तो जरूरत को देखते हुए त्योहारी सीजन से पहले या सीजन के बाद खरीदारी ठीक रहेगी। 

Related Posts

0 comments on "त्यौहारी सीजन में 40000 हजार तक पहुंचे सकता हैं सोना "

Leave A Comment