YUV News Logo
YuvNews
Open in the YuvNews app
OPEN

फ़्लैश न्यूज़

इकॉनमी

 बीमा कंपनियों पॉलिसी में जबरदस्त गिरावट

 बीमा कंपनियों पॉलिसी में जबरदस्त गिरावट

मुंबई । देश में कुल 24 जीवन बीमा कंपनियों के प्रीमियम और पॉलिसी में जनवरी से जून के दौरान भारी गिरावट आई है। इनका प्रीमियम इस साल जनवरी से जून के दौरान 60,637 करोड़ रुपए से घटकर 49,335 करोड़ रुपए पर आ गया है। यह गिरावट 18.64 प्रतिशत रही है। इसी अवधि में पॉलिसी में 35.40 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह 48.07 लाख से घटकर 31.05 लाख पर आ गई है। इस दौरान एलआईसी का कुल प्रीमियम 44,794 करोड़ से घटकर 36,530 करोड़ रुपए पर आ गया है। जबकि निजी कंपनियों का प्रीमियम 12,805 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले इसी अवधि में मिले 15,842 करोड़ के प्रीमियम की तुलना में यह 19.17 प्रतिशत कम है। इसी दौरान पॉलिसी की संख्या में भी गिरावट आई है। यह 13.89 लाख से 14.37 प्रतिशत घटकर 11.89 लाख पर आ गई है। लाइफ इंश्योरेंस काउंसिल के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल जनवरी से जून की तुलना में आदित्य बिरला सन लाइफ इंश्योरेंस का प्रीमियम 79.67 प्रतिशत बढ़ा है। यह 510 करोड़ से बढ़कर 916.48 करोड़ रुपए हो गया है। इसी अवधि में बजाज आलियांज का प्रीमियम 1,013.75 करोड़ से 26.84 प्रतिशत गिरकर 741 करोड़ रुपए हो गया है। पॉलिसी में हालांकि इसकी बढ़त 53.86 प्रतिशत रही है। फ्यूचर जनराली का प्रीमियम इसी अवधि में 149 करोड़ से 56 प्रतिशत घटकर 65.66 करोड़ रुपए पर आ गया है। एचडीएफसी लाइफ का प्रीमियम 3,982 करोड़ रुपए से 33.37 प्रतिशत गिरकर 2,653 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। पॉलिसी में इस कंपनी को 4.33 प्रतिशत का नुकसान हुआ है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के प्रीमियम में 32.64 प्रतिशत की कमी आई है। यह 2,226 करोड़ रुपए से गिरकर 1,499 करोड़ रुपए पर आ गया है। आंकड़े बताते हैं कि पीएनबी मेटलाइफ का प्रीमियम 325 करोड़ रुपए से 26.51 प्रतिशत घटकर 238 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। प्रमेरिका लाइफ का प्रीमियम 74 प्रतिशत गिरा है और यह 148 से 38.37 करोड़ रुपए रहा है। इसकी पॉलिसी में 56.57 प्रतिशत की गिरावट आई है। रिलायंस निप्पोन लाइफ की बात करें तो इसके प्रीमियम में 29.34 प्रतिशत की गिरावट आई और यह 227 करोड़ से घटकर 160 करोड़ रुपए रहा है। इसकी पॉलिसी में 28.21 प्रतिशत की कमी आई है।
 

Related Posts

0 comments on " बीमा कंपनियों पॉलिसी में जबरदस्त गिरावट"

Leave A Comment