YUV News Logo
YuvNews
Open in the YuvNews app
OPEN

फ़्लैश न्यूज़

रीजनल वेस्ट

कमलनाथ फिर वचन-पत्र लेकर आए हैं, ये वचन नहीं कपट-पत्र हैः शिवराज सिंह चौहान भाजपा अपने वादे पूरे करने वाली पार्टी है : गोपाल भार्गव मुख्यमंत्री एवं मंत्री ने किया बक्सवाहा, राहतगढ़ और देवनगर में सभाओं को संबोधित

कमलनाथ फिर वचन-पत्र लेकर आए हैं, ये वचन नहीं कपट-पत्र हैः शिवराज सिंह चौहान भाजपा अपने वादे पूरे करने वाली पार्टी है : गोपाल भार्गव मुख्यमंत्री एवं मंत्री ने किया बक्सवाहा, राहतगढ़ और देवनगर में सभाओं को संबोधित

भोपाल । कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ फिर से वचन-पत्र लेकर आए हैं। इस बार भी वचन-पत्र में ऐसे वादे किए हैं कि मानो स्वर्ग को ही धरती पर उतारकर ले आएंगे। इन्होंने 2018 के चुनाव में भी प्रदेश की जनता, किसानों, गरीबों और माताओं-बहनों को कई वचन दिए थे, लेकिन इनके एक भी वचन पूरे नहीं हुए। यह वचन पत्र नहीं, कांग्रेस का कपट-पत्र है। यह बात मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को छतरपुर जिले की बड़ा मल्हरा विधानसभा के बक्सवाहा, सुरखी विधानसभा के राहतगढ़ एवं सांची विधानसभा के देवनगर में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं में कही। सभाओं को प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने भी संबोधित किया।

माताओं, बहनों और बेटियों के साथ किया छलकपट
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज नवरात्रि का पहला दिन है। मातारानी की उपासना का दिन है। हम माता की पूजा करते हैं, बहनों की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी होती है, लेकिन कांग्रेस की सरकार ने प्रदेश की माताओं-बहनों के साथ छलकपट किया। उनके लिए चलाई जा रही योजनाओं को ही बंद कर दिया। संबल योजना के जरिए गरीब माताओं-बहनों को भाजपा सरकार ने मदद देने का काम शुरू किया था,  तो कमलनाथ ने मुख्यमंत्री बनते ही संबल योजना को बंद कर दिया। भाजपा सरकार ने बेटियों की पढ़ाई-लिखाई के लिए व्यवस्था की थी तो कमलनाथ को यह भी रास नहीं आई और उन्होंने इस योजना को भी बंद कर दिया। हम कन्यादान योजना के जरिए गरीब बेटियों की शादी करवाते थे तो इन्होंने राशि बढ़ाकर 51 हजार तो कर दी, लेकिन एक भी बेटी को आज तक यह राशि नहीं मिली। यही कांग्रेस और उनके पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की माताओं-बहनों के प्रति आस्था और भावना थी, लेकिन अब फिर से प्रदेश में भाजपा की सरकार है और मामा मुख्यमंत्री है, इसलिए माताएं-बहनें और बेटियां चिंता न करें। उनकी पढ़ाई-लिखाई, शादी की जिम्मेदारी भाजपा सरकार उठाएगी।

पहले दिए वचन तो पूरे किए नहीं, अब फिर से छलावा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी और कमलनाथ ने विधानसभा चुनाव-2018 में प्रदेश के किसानों को वचन दिया था कि सरकार में आते ही 10 दिनों के अंदर उनका 2 लाख रूपए तक का कर्जमाफ कर दिया जाएगा। यदि ऐसा नहीं हुआ तो मुख्यमंत्री ही बदल दूंगा। 55 हजार करोड़ रूपए की कर्जमाफी होनी थी, लेकिन वह धीर-धीरे 6 हजार करोड़ रूपए पर आ गए। इनकी कर्जमाफी मरी हुई चुहिया निकली, जिसे लेकर श्री कमलनाथ घूम रहे हैं और कह रहे हैं कि हमने कर्जमाफ कर दिया। इन्होंने गेहूं, धान, बाजरा, सोयाबीन, सरसों, मूंग, मक्का सहित अन्य फसलों पर बोनस देने का वादा किया था, लेकिन आज तक किसी किसान को बोनस नहीं मिला। कांग्रेस ने ऋण फसल योजना लाने का वादा किया था, लेकिन आज तक नहीं आई। बिना कर्ज लिए खेती करने वाले किसानों को फसल बीमा योजना से जोड़ने का वचन भी दिया था, लेकिन एक किसान को नहीं जोड़ा। बेरोजगार युवाओं को 4 हजार रूपए भत्ता देने, बेटियों की शादी के लिए 51 हजार रूपए देने सहित सैकड़ों वचन अपने वचन-पत्र में दिए थे, लेकिन कोई भी वचन पूरा नहीं किया। अब फिर से प्रदेश की जनता के साथ छलावा करने के लिए नया वचन-पत्र लेकर आए हैं।

गांव का गरीब नहीं, उन्हें कैटरीना-सलमान याद आते थे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ को गांव का गरीब, किसान याद नहीं आते थे। उन्हें तो सलमान खान, शाहरूख खान, कैटरीना कैफ याद आती थीं। वे प्रदेश में करोड़ों रूपए खर्च करके आईफा अवार्ड कराने की तैयारी में व्यस्त थे और इधर देश में कोरोना की दस्तक दे रहा था। कोरोना महामारी से बचने के लिए तो उन्होंने कोई इंतजाम नहीं किए, लेकिन प्रदेश के गरीब, किसान, माताओं, बहनों, बेटियों, भांजे-भांजियों के लिए चलाई जा रही योजनाओं को बंद करके उनकी राशि हीरो-हीरोइन पर खर्च करने की तैयारी में व्यस्त थे। उन्होंने कहा कि श्री कमलनाथ ने कभी गरीबी नहीं देखी, गांव नहीं देखे, धूल-मिट्टी नहीं देखी तो वे क्या गरीबों, किसानों का दर्द समझेंगे। उन्हें तो ऐशोआराम करने की आदत है। वे तो उद्योगपति हैं, उन्हें किसी गरीब से क्या मतलब?

बंगाल का जादू बड़ा कमाल का है
मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ कहां से आए किसी को पता नहीं, कोई कहता है कि वे बंगाल से आए, लेकिन यह बंगाल का जादू बड़े कमाल का है। श्री कमलनाथ बंगाल का जादू प्रदेश की जनता पर भी चलाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें मालूम नहीं है कि प्रदेश की भोलीभाली जनता पर बंगाल का जादू नहीं चलने वाला है। यहां की जनता विकास का जादू देख रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस सरकार में उनके मुख्यमंत्री जब देखो तब पैसों के लिए ही रोते रहते थे। कोई मंत्री-विधायक या जनप्रतिनिधि उनसे विकास की बात करने जाते थे तो वे पैसा नहीं होने का रोना रोकर उन्हें वहां से विदा कर देते थे। यही कारण था कि कांग्रेस के मंत्री-विधायक कमलनाथ से परेशान थे और उनके विधानसभा क्षेत्रों में एक धेले का विकास नहीं हुआ।  लेकिन अब उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। अब उनके विधानसभा क्षेत्रों में विकास की गंगा बहाई जाएगी।

भाजपा अपना वादा पूरा करने वाली पार्टी हैः गोपाल भार्गव
प्रदेश के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपना वादा पूरा करने वाली पार्टी है। भाजपा कांग्रेस की तरह झूठे वचन नहीं देती है। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से धारा-370 हटाने का वादा किया था,  उसे निभाया। राममंदिर निर्माण का वादा किया था उसका काम शुरू हो चुका है। तीन तलाक को समाप्त करने का वादा किया था,  उसे भी समाप्त किया है। किसानों को सम्मान निधि देने का वादा किया था उसे भी शुरू कर दिया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भी किसानों को मिलने वाली सम्मान निधि में चार हजार रूपए मिलाकर सम्मान निधि को 10 हजार करा दिया है तो संबल जैसी महत्वाकांक्षी योजना को फिर से शुरू किया है। इस योजना के जरिए जहां गरीब की मौत पर कफन के लिए पांच हजार की सहायता की जाती है, दुर्घटना में मौत पर 4 लाख और सामान्य मौत पर दो लाख की आर्थिक मदद उसके परिवार को दी जाती है। गोपाल भार्गव ने कहा कि कांग्रेस सरकार में उनके तत्कालीन मुख्यमंत्री एवं तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष मंत्री-विधायकों के साथ ही छलकपट करते थे। उन्होंने कहा कि आज हमारा प्रदेश, देश ही नहीं, पूरी दुनिया रोजगार की समस्या से जूझ रही है, लेकिन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकारी नौकरियों में प्रदेश के नौजवानों को ही प्राथमिकता देने का वादा किया है। अब 60 हजार करोड़ की लागत से लगने वाली डायमंड फैक्ट्री में भी 75 प्रतिशत नौकरियां स्थानीय लोगों के लिए ही रहेंगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार भू-माफियाओं के खिलाफ भी अभियान चला रही है और जितनी भी जमीन पर भू-माफियाओं ने कब्जा जमा रखा है सबको बेदखल करके एक-एक पाई जमीन गरीबों की भलाई के लिए निकाली जाएगी।
इस दौरान भाजपा सांसद श्री वीरेंद्र कुमार, सांसद राजबहादुर सिंह, वरिष्ठ मंत्री गोपाल भार्गव, उपचुनाव अभियान समिति के संयोजक एवं मंत्री भूपेंद्र सिंह, प्रदेश महामंत्री हरिशंकर खटिक, चेतन सिंह, छतरपुर जिलाध्यक्ष मलखान सिंह, सागर जिलाध्यक्ष गौरव सिरोठिया, मंत्री एवं सुरखी प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत, बड़ामल्हरा प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह लोधी, राजेंद्र प्रजापति, श्रीमती रेखा यादव, पूर्व मंत्री श्रीमती ललिता यादव, दशरथ लोधी, घासीराम पटेल, अनिल सोनी, सीताराम, अमित राय सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता एवं आम लोग उपस्थित रहे।
 

Related Posts

0 comments on "कमलनाथ फिर वचन-पत्र लेकर आए हैं, ये वचन नहीं कपट-पत्र हैः शिवराज सिंह चौहान भाजपा अपने वादे पूरे करने वाली पार्टी है : गोपाल भार्गव मुख्यमंत्री एवं मंत्री ने किया बक्सवाहा, राहतगढ़ और देवनगर में सभाओं को संबोधित"

Leave A Comment